Headlines
Loading...
राजस्थान में राशन कार्ड कितने प्रकार के होते है ? Tyeps Of Ration Card

राजस्थान में राशन कार्ड कितने प्रकार के होते है ? Tyeps Of Ration Card

Types of Rajasthan Card in Rajasthan Full Information in Hindi:- राजस्थान में राशन कार्ड कितने प्रकार के होते हैं ? कौनसे राशन कार्ड का क्या कार्य होता है ? कौनसे राशन कार्ड पर कितने किलो गेंहू मिलते हैं ? या कौन से राशन कार्ड का मतलब क्या होता है ? यह सब आज के इस लेख में हम जानेंगे। इसलिए आप इस लेख को शुरू से लेकर लास्ट तक जरूर पढ़ें।

राजस्थान में राशन कार्ड कितने प्रकार के होते है ? Tyeps Of Ration Card

APL ka matlab, Antoday ration card ka matlab, ration card kitne type ke hote hai, BPL meaning in hindi

तो सबसे पहले तो हम आपको बताना बताना चाहेंगे कि राजस्थान के अंदर चार प्रकार के राशन कार्ड चलते हैं, जो कि निम्न है।


Types of Ration Card || राशन कार्ड के प्रकार

1. APL Ration Card

2. BPL Ration Card

3. State BPL Ration Card 

4. Antoday Ration Card


राजस्थान में राशन कार्ड कितने प्रकार के होते है ? Tyeps Of Ration Card

1. APL Ration Card:- APL का पूरा नाम Full Form Above Poverty Line होती है, यह राशन कार्ड नीले रंग का होता है। एपीएल राशन कार्ड राजस्थान के उन परिवारों के लिए बनाया जाता है जो कि गरीबी रेखा से ऊपर आते हैं। ऐसे परिवारों की आय चाहे कितनी भी हो, उससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। बस अगर परिवार गरीबी रेखा से ऊपर आते हैं, तो उनका एपीएल राशन कार्ड ही बनाया जाता है।

अभी देखिए एपीएल राशन कार्ड धारकों को चिरंजीवी योजना को छोड़कर अन्य किसी भी सरकारी योजना का फायदा नहीं मिलता है। अगर आप चिरंजी योजना के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो यह लेख पढ़ें।

इसके अलावा एपीएल राशन कार्ड धारकों को गेहूं भी नहीं मिलते हैं। हां मिल भी सकते हैं, इसके लिए आपको NFSA का फॉर्म भरवाना पड़ता है। जिसकी कुछ शर्ते होती है, अगर आप उन शर्तों को पूरा करते हैं, तो आपके एपीएल राशन कार्ड के भी गेहूं मिल सकते हैं। आप ईमित्र पर जाकर खाद्य सुरक्षा (NFSA) का फॉर्म भरवा सकते हैं, फॉर्म अप्रूव होने के बाद आपको आपके एपीएल राशन कार्ड के भी गेहूं मिलना शुरू हो जाएंगे।

अगर हम एपीएल राशन कार्ड धारकों को मिलने वाले गेहूं की बात करें, तो एपीएल राशन कार्ड के एक सदस्य के 5 किलो गेहूं मिलते हैं और 1 किलो गेहूं के आपको ₹2 देने पड़ते हैं।


2. BPL Ration Card:- BPL का पूरा नाम Full Form Below Poverty Line होता है। यह राशन कार्ड लाल व गुलाबी रंग का होता है। बीपीएल राशन कार्ड राजस्थान के उन परिवारों को मिलता है जो कि गरीबी रेखा से नीचे आते हैं। बीपीएल राशन कार्ड धारकों को बहुत सी सरकारी योजनाओं के फायदे मिलते हैं जैसे कि मुख्यमंत्री आवास योजना, शौचालय योजना आदि। तो इन योजनाओं के अंतर्गत बीपीएल कार्ड धारकों को बिल्कुल फ्री में मकान व शौचालय बना कर दिए जाते हैं।

इसके अलावा बीपीएल कार्ड धारकों को खाद्य सुरक्षा के अंतर्गत राशन सामग्री भी मिलती हैं। बीपीएल राशन कार्ड के भी एक सदस्य के 5 किलो गेंहू मिलते हैं और 1 किलो गेहूं के लिए आपको ₹1 देना पड़ता है।


3. State BPL Ration Card:- यह राशन कार्ड हरे रंग का होता है। बीपीएल और स्टेट बीपीएल राशन कार्ड में कोई भी अंतर नहीं होता है। जो फायदे बीपीएल राशन कार्ड धारकों को मिलते हैं वहीं फायदे स्टेट बीपीएल परिवारों को भी मिलते हैं, जैसे कि मुख्यमंत्री आवास योजना, शौचालय योजना, इसके अलावा बीपीएल कार्ड धारकों की तरह स्टेट बीपीएल परिवारों को भी गेहूं दिए जाते हैं। जिसमें उन्हें एक सदस्य के 5 किलो गेहूं दिए जाते हैं और 1 किलो गेहूं की लिए उन्हें ₹1 देना पड़ता है।

अगर हम बीपीएल और स्टेट बीपीएल के बीच में अंतर की बात करें। तो इनमें सिर्फ एक ही अंतर है। वह यह कि 2002 - 2003 से पहले जितने भी परिवार बीपीएल श्रेणी में थे, उन परिवारों के लिए स्टेट बीपीएल राशन कार्ड जारी किया गया है, इसके अलावा 2002 और 2003 के बाद जो परिवार बीपीएल श्रेणी में शामिल हुए है, उनको बीपीएल राशन कार्ड जारी किया जाता है। अगर आपके पास भी हरे कलर का राशन कार्ड है यानी कि स्टेट बीपीएल राशन कार्ड है ? तो इसका मतलब यह है कि आप 2002 और 2003 से पहले से बीपीएल श्रेणी में है।


4. Antoday:- अंत्योदय राशन कार्ड पीले रंग का होता है। यह राशन कार्ड उन परिवारों को के लिए जारी किया जाता है जो कि गरीबी रेखा से नीचे आते हो और साथ ही वह शारिरिक रूप से अपना घर चलाने में असमर्थ हो, कमाई करने में असमर्थ हो। जैसे कि वृद्धजन, विकलांग या अन्य किसी कारण की वजह से अगर वह इस लायक नहीं है कि वह खुद कुछ काम करके अपना जीवन यापन कर सकें। तो उनके लिए यह राशन कार्ड जारी किया जाता है।

एक अंत्योदय राशन कार्ड के टोटल 35 किलो गेहूं मिलते हैं, फिर चाहे उस राशन कार्ड में सिर्फ 1 सदस्य हो या 10 सदस्य हो, उससे से कोई फर्क नही पड़ता है। यानी कि बाकी राशन कार्ड की तरह इसमें सदस्यों के आधार पर गेंहू नहीं मिलते हैं। बल्कि एक अंतोदय राशन कार्ड के 35 किलो गेहूं मिलते हैं और 1 किलो गेहूं के लिए ₹1 देना पड़ता है। इसके अलावा बहुत सारी सरकारी योजनाओं के फायदे भी अंतोदय राशन कार्ड धारक परिवार को मिलते हैं।

तो कुल मिलाकर हम यह कह सकते हैं कि अंतोदय राशन कार्ड राजस्थान में सबसे गरीब और असमर्थ परिवारों को जारी किया जाता है, उसके बाद बीपीएल और स्टेट बीपीएल और उसके बाद एपीएल राशन कार्ड।

इस जानकारी को वीडियो में देखने के लिए यंहा क्लिक करे।

ये भी पढ़े...

तो दोस्तों हमें उम्मीद है कि आपको यह जानकारी राजस्थान में राशन कार्ड कितने प्रकार के होते हैं ? कौन से राशन कार्ड का क्या मतलब होता है ? APL Ration Card Kya Hai ? Antodaya Ration Card Kya Hai ? कौनसे राशन कार्ड के कितने गेंहू मिलते है ? यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर लेख अच्छा लगा हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें। इसके अलावा अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो आप नीचे कमेंट करके बता सकते हैं। 

0 Comments: