Headlines
Loading...
भारत गौरव योजना क्या है ? What is Bharat Gaurav Yojana in Hindi

भारत गौरव योजना क्या है ? What is Bharat Gaurav Yojana in Hindi

What is Bharat Gaurav Yojana full information in Hindi : - भारत देश का रेलवे दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे माना जाता है। जो दुनिया के 140 देशों में 34 वा स्थान रखता है। आपको तो पता ही होगा कि साल 2020 में लॉकडाउन लगने के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाली इंडस्ट्री टूरिज्म इंडस्ट्री थी। इसी टूरिज्म इंडस्ट्री के कारण साल 2020 में भारत की जीडीपी में 121.1 बिलियन अमेरिकी डॉलर बढ़ोतरी हुई थी। और साल 2028 तक 512 बिलियन डॉलर होने का टारगेट रखा गया है। 

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने अभी हाल ही में 23 नवंबर 2021 को " भारत गौरव योजना " की शुरुआत की गई है। जिसके तहत ट्रेनों को किराये पर दिया जाएगा। 

भारत गौरव योजना क्या है ? What is Bharat Gaurav Yojana in Hindi

तो दोस्तों आज के इस ब्लॉग में हम आपको " भारत गौरव योजना " से जुड़ी संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। जैसे भारत गौरव योजना क्या है ? भारत गौरव योजना के तहत ट्रेनें किराए पर कैसे मिलेगी ? यह सभी जानकारी आज के इस ब्लॉग में मिलने वाली है। कृपया करके इस ब्लॉग को अंत तक जरूर पढ़ें।


भारत गौरव योजना क्या है ? What is Bharat Gaurav Yojana in Hindi

जिस तरह से आप भारत देश के ऐतिहासिक और सांस्कृतिक जगहों पर घूमने के लिए बस बुक करवाते हैं। उसी तरीके से अब आप भारत की सभी ऐतिहासिक और सांस्कृतिक स्थानों पर घूमने फिरने के लिए ट्रेन को भी बुक करवा सकते हैं। इसके लिए भारत सरकार की ओर से भारत गौरव योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के तहत ट्रेनों को किराया पर दिया जाएगा।

यह ट्रेनें भारत के ऐतिहासिक और सांस्कृतिक जगह पर घूमने के लिए मदद करेगी। आप इस तरह से समझ सकते हैं कि आप जम्मू और लुधियाना में घूमने के लिए जा रहे हैं। तब आप इन ट्रेनों को बुक कर सकते हैं।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारतीय टूरिज्म इंडस्ट्री को बढ़ावा देना है। 

भारत गौरव योजना के तहत ट्रेनों को किराए पर लेने के लिए कोई भी हो सकता है जैसे इंडिविजुअल व्यक्ति, प्राइवेट फर्म या कंपनी, राज्य सरकार। इन सभी ट्रेनों का संचालन करने के लिए आईआरसीटीसी और प्राइवेट सेक्टर कंपनियां दोनो काम करेगी।

भारत गौरव योजना के तहत पहले लेवल में 190 ट्रेनें चलाई जाएगी। जिसके लिए 3033 से भी ज्यादा कोचों को रखा गया है। इसी के साथ ही इन ट्रेनों के किराए, पेमेंट, खानपान, होटल किराया जैसे डिसीसन प्राइवेट सेक्टर की कंपनियां तय करेगी। यानी जो ट्रेन किराए पर ले रहा वही किराए को तय करेगा। यात्रियों के लिए ट्रेन में सभी तरह की सुविधाएं अवेलेबल होगी।


ट्रेनों को किराए पर लेने के लिए कुछ जरूरी बातें - 

> इन सभी ट्रैनों को किराए पर लेने के लिए कोई भी इंडिविजुअल व्यक्ति, प्राइवेट कंपनियां, राज्य सरकार या इसके अलावा कोई भी हो सकता है।

> ट्रेन को किराए पर लेने के लिए आपको सबसे पहले ₹100000 फीस और रजिस्ट्रेशन करना होगा।

> ट्रेन को किराए पर लेने से पहले आपको एक करोड रुपए सिक्योरिटी के तौर पर जमा करने होंगे। 

> ट्रेनों को 2 साल से 10 साल तक किराए पर ले सकेंगे।

> ऑपरेटर को यह अधिकार होगा कि वह ट्रेन पर ब्रांडिंग व एडवर्टाइजमेंट कर सकता है। जिसके लिए ऑपरेटर्स को ज्यादा से ज्यादा कमाई होगी।

> इन ट्रेनों के लिए आवेदन करने वाले वे सभी पात्र माने जाएंगे जिन्होंने पहले आओ पहले पाओ के आधार पर किया हो।

हम आपको जानकारी के लिए बता दें की रेल मंत्री ने प्राइवेट कंपनियों को ही किराया और पेमेंट तय करने को कहा गया है। जैसे होटल किराया, टैक्सी किराया, खानपान इत्यादि लेकिन कंपनियां इस किराए के अंदर मनमानी नहीं कर सकती बल्कि किराया को एक फिक्स रखा जाएगा। 

तो दोस्तों अब आपका भी मन कहीं पर घूमने के लिए हो रहा हैं। तब आप भारत गौरव ट्रेनों को बुक कर सकते हैं। भारत के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और धार्मिक स्थलों पर घूम सकते हैं। इसके अलावा अगर आप भारतीयों ट्रैनों को किराए पर लेना चाहते हैं। तो आप भारत गौरव योजना के तहत आवेदन कर सकेगें।

ये भी पढ़े...

तो दोस्तों हम उम्मीद करते हैं की आपको भारत गौरव योजना के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी मिल गई होगी। अगर आपको यह जानकारी पसंद आती हैं। तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिएगा।  

0 Comments: