Headlines
Loading...
BSC और BSC Nursing कोर्स क्या है ? इनमें क्या अंतर होता है ?

BSC और BSC Nursing कोर्स क्या है ? इनमें क्या अंतर होता है ?

What is the difference between bsc and bsc nursing course in hindi:- बीएससी और बीएससी नर्सिंग को लेकर बहुत सारे लोगों के मन में यह डाउट रहता है कि यह दोनों कोर्स एक ही है या फिर अलग-अलग है ? या बीएससी और बीएससी नर्सिंग कोर्स में क्या अंतर होता है ? तो अगर आपके मन में भी ऐसा ही कुछ है तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। क्योंकि नीचे हम आपको BSC और BSC Nursing Course के बारे में विस्तार से बताने वाले है।


BSC Coruse क्या होता है ?

BSC कोर्स 3 साल का एक अंडर ग्रैजुएशन कोर्स होता है। 12वी कक्षा पास करने के बाद आप अपने आस पास की किसी भी कॉलेज में बीएससी कोर्स में एडमिशन ले सकते है। यह कोर्स करने के लिए 12वीं कक्षा में साइंस होना जरूरी है। 12वीं कक्षा में साइंस में बायलॉजी हो या मैथ, आप बीएससी कोर्स कर सकते हैं। यह एक सामान्य अंडर ग्रैजुएशन कोर्स होता है जो कि साइंस विषय वाले विद्यार्थियों के द्वारा 12वीं करने बाद आगे की पढ़ाई करने के लिए किया जाता है। 

इस कोर्स में विज्ञान के बारे में बेसिक जानकारियां विस्तार से बताई जाती है। यह एक यह एक बहुत ही सामान्य सा कोर्स है जो कि लगभग सभी कॉलेजों में उपलब्ध रहता है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको ज्यादा मेहनत भी करने की जरूरत नहीं पड़ती है, आपको बहुत ही आसानी से इसमें एडमिशन मिल जाता है। साथ ही इस कोर्स की फीस भी कम होती है। यह कोर्स करने के बाद आपको अपने सब्जेक्ट के बारे में काफी अच्छा नॉलेज हो जाता है। इसके बाद आप चाहे तो B.ed करके विज्ञान विषय में अध्यापक बन सकते हैं। इसके अलावा भी अन्य कई प्रकार की जॉब है जो कि आपका सकते हैं


BSC Nursing कोर्स क्या है ?

बीएससी नर्सिंग एक पैरामेडिकल प्रोफेशनल कोर्स है जो कि 4 साल का होता है। जैसा कि इसका नाम है उसी से आप समझ सकते हैं कि यह कोर्स मुख्य रूप से नर्सिंग यानी कि मेडिकल लाइन से संबंधित है। 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आप इस कोर्स को कर सकते हैं, लेकिन 12वीं कक्षा में आपके बायोलॉजी विषय होना जरूरी होता है। इस कोर्स में मानव शरीर और स्वास्थ्य से संबंधित पढ़ाई करवाई जाती है।

हमारे देश में बीएससी नर्सिंग कोर्स को काफी सम्मानजनक कोर्स के रूप में जाना जाता है। यह कोर्स करने के बाद आप किसी भी प्राइवेट हॉस्पिटल में काम करना शुरू कर सकते हैं, या अगर आपको इसके आगे की पढ़ाई करनी हो तो आप वह भी कर सकते हैं। इस कोर्स में मुख्य रूप से मानव बीमारियों, उनके लक्षणों तथा उनके इलाज के बारे में सिखाया जाता है। 

इस कोर्स में एडमिशन लेने से पहले एक प्री टेस्ट भी होता है। जो विद्यार्थी इस प्री टेस्ट में पास होते हैं सिर्फ उन्हीं को बीएससी नर्सिंग कोर्स में एडमिशन मिलता है। यह प्री टेस्ट नेशनल लेवल और स्टेट लेवल दोनों पर होता है। यानी कि अगर आप किसी केंद्र आधारित कॉलेज में बीएससी नर्सिंग कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको केंद्र आधारित बीएससी नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम पास करना पड़ेगा, वहीं अगर आप किसी राज्य के अंतर्गत आने वाले कॉलेज में बीएससी नर्सिंग कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको उस राज्य का बीएससी नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम पास करना पड़ेगा। तब जाकर आपको इस कोर्स में एडमिशन मिलता है।

हम आपको बता दें कि बीएससी नर्सिंग कोर्स की फीस भी थोड़ी ज्यादा होती है, इस कोर्स की फीस ₹50,000 से ₹5,00,000 तक हो सकती है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कौनसी कॉलेज में एडमिशन लेते हैं। सभी प्राइवेट कॉलेजों की अपनी अलग अलग फीस होती है। इसलिए आप जिस कॉलेज में एडमिशन ले रहे हैं पहले उस कॉलेज से फीस के बारे में जानकारी जरूर प्राप्त कर ले।


बीएससी और बीएससी नर्सिंग कोर्स में क्या अंतर होता है ?

जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि बीएससी 3 साल का एक सामान्य अंडर ग्रेजुएशन कोर्स होता है जोकि साइंस सब्जेक्ट वाले विद्यार्थी 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद कर सकते हैं। वही बीएससी नर्सिंग कोर्स 4 साल का होता है। यह कोर्स करने के लिए 12वीं कक्षा में बायोलॉजी होना जरूरी है। इस कोर्स में एडमिशन लेने से पहले आपको एक एंट्रेंस एग्जाम भी देना पड़ता है। वह एग्जाम पास करने के बाद आपको इस कोर्स में एडमिशन दिया जाता है।

वैसे तो यह दोनों कोर्स विज्ञान से संबंधित है। लेकिन अगर मुख्य रूप से देखा जाए तो BSC विज्ञान से संबंधित कोर्स है वही BSC Nursing चिकित्सा से संबंधित एक कोर्स है। हमें उम्मीद है कि आप को अच्छे से समझ में आ गया होगा कि बीएससी और बीएससी नर्सिंग में क्या अंतर होता है ? अगर अभी भी आपके मन में कोई सवाल या सुझाव हो तो आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं। 

0 Comments: