Bottom Article Ad

राशन डीलर कैसे बने ? राशन डीलर बनने के लिए प्रोसेस

How to Become Dealer Full Information in Hindi : - हमारे देश की सरकारों द्वारा ज्यादातर योजनाएं ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए निकाली जाती है वो इसलिए क्योंकि देश के ज्यादातर गरीब और किसान लोग ग्रामीण इलाकों में ही निवास करते हैं। इसीलिए सरकार द्वारा ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को ज्यादा से ज्यादा लाभ पहुंचाने के लिए तरह-तरह की योजनाएं शुरू की जाती है। 

ऐसी ही एक सरकारी योजना हमारे देश की केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई जिसके तहत ग्रामीण और शहरी इलाकों में रहने वाले गरीब लोगों को मुफ्त में खाद्य सामग्री वितरण करना शुरू किया गया हैं। इस योजना के तहत हमारे देश के जितने भी ऐसे परिवार हैं जो कि गरीबी रेखा के नीचे आते हैं। उनको बिल्कुल फ्री में या ₹1 रुपए किलो या ₹2 किलो के भाव से खाद्य सामग्री जैसे कि गेहूं, चावल, दाल, मिट्टी का तेल आदि वितरित किए जाते हैं। इस कार्य को करने के लिए हर एक गांव और शहर में एक राशन डीलर को नियुक्त किया गया है जिसका कार्य अपने एरिया के गरीब लोगों को राशन सामग्री वितरण करना होता है।

अगर आपका परिवार भी गरीबी रेखा के नीचे आता है या आप ग्रामीण इलाके से ताल्लुक रखते हैं तब आप राशन डीलर के बारे में काफी अच्छे से जानते होंगे। इसके बारे में आपको विस्तार से बताने की आवश्यकता नहीं है। इस लेख में बस हम यही जानेंगे कि हमारे देश में राशन डीलर बनने की प्रोसेस क्या है ? राशन डीलर कैसे बने ? सबसे पहले हम आपको यह बताएंगे कि राशन डीलर बनने के लिए योग्यता क्या है ? उसके बाद हम आगे की जानकारी जानेगे।


राशन डीलर बनने के लिए योग्यता क्या है ? 

1. आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए

2. आवेदक की उम्र कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए। लेकिन आवेदक की उम्र अलग-अलग राज्यों में भिन्न भिन्न हो सकती है।

3. आवेदक का दसवीं क्लास पास होना चाहिए। 

4. आवेदन करने वाला व्यक्ति कंप्यूटर से संबंधित कोई कोर्स किया हुआ होना चाहिए।

5. आवेदन करने वाले व्यक्ति के खिलाफ न्यायालय में कोई अपराध रजिस्टर्ड नहीं होना चाहिए।

6. आवेदन करने वाला व्यक्ति ग्राम प्रधान के परिवार का सदस्य नहीं होना चाहिए।

7. राशन डीलर बनने के लिए सबसे जरूरी है कि उसके बैंक अकाउंट में ₹40000 की राशि जमा होनी चाहिए। 

8. आवेदक या आवेदक के परिवार में किसी भी सदस्य के पास राशन की दुकान आवंटित नहीं होनी चाहिए।

9. इसके अलावा राशन डीलर बनने के लिए उम्मीदवार के पास एक अच्छा सा गोदाम भी होना चाहिए। इसी के साथ  ही राशन को तोलने और अन्य सभी काम को करने के लिए उपकरण भी होने चाहिए। 

10. आप अपनी ग्राम पंचायत के अलावा किसी दूसरी पंचायत में राशन डीलर बनने के लिए आवेदन नहीं कर सकते। 


राशन डीलर बनने के लिए दस्तावेज क्या है ? 

1. आवेदक का ओरिजिनल आधार कार्ड

2. मूल निवास प्रमाण पत्र

3. दसवीं की मार्कशीट

4. रिजर्वेशन क्लास सर्टिफिकेट (आरक्षण वर्ग का प्रमाण पत्र)

5. आवेदन करने वाले उम्मीदवार के परिवार का किसी भी सदस्य के विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3/7 में अभियोग पंजीकृत ना होने का प्रमाण पत्र

6. उम्मीदवार के परिवार में किसी भी सदस्य के नाम पर राशन दुकान नहीं होनी चाहिए।

7. जिला अधिकारी द्वारा प्रमाणित चरित्र प्रमाण पत्र

8. पुलिस अधीक्षक द्वारा प्रमाणित चरित्र प्रमाण पत्र


राशन डीलर कैसे बने ? How To Become Ration Dealer In Hindi

ऐसा तो बिल्कुल भी नहीं है कि आप राशन डीलर खुद ही बन जाएंगे बल्कि उसके लिए भी आपको अलग प्रोसेस से गुजरना पड़ेगा। सबसे पहले तो आप यह पता कर ले कि आपकी ग्राम पंचायत में जो राशन डीलर है वह काम कर रहा है या नहीं या उसने काम करना छोड़ दिया है या फिर उसका लाइसेंस रद्द कर दिया गया है तो ऐसी स्थिति में आप अपनी ग्राम पंचायत में राशन डीलर बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

राशन डीलर की शिकायत कैसे करें ? पूरी जानकारी।

किसी भी सरकारी कर्मचारी या दफ्तर की शिकायत कैसे करें ?

जब आपको यह विश्वास हो जाए कि आपकी ग्राम पंचायत में कोई भी राशन डीलर मौजूद नहीं है तो उसके बाद आप राशन डीलर के लिए आवेदन कर सकते हैं। लेकिन सरकार के द्वारा राशन डीलर नियुक्त करने के लिए समय समय पर भर्तियां निकाली जाती है जिनमें आप आवेदन कर सकते हैं। 

राशन डीलर बनने के लिए सरकार के द्वारा ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों प्रकार से आवेदन स्वीकार किए जाते हैं। लेकिन ज्यादातर यही देखा गया है कि राशन डीलर बनने के लिए ऑफलाइन आवेदन ही किए जाते हैं तो हम यहां पर आपको राशन डीलर बनने के लिए ऑफलाइन आवेदन कैसे करें ? इससे संबंधित जानकारी उपलब्ध करवा रहे हैं।

Note : - यहां पर हम आपको जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि आप जिस भी राज्य में रहते हो उस राज्य में राशन डीलर बनने से संबंधित सारी जानकारी जरूर प्राप्त कर लें क्योंकि अलग-अलग राज्यों में राशन डीलर बनने के लिए अलग तरह से प्रोसेस होता है। 


राशन डीलर बनने के लिए प्रोसेस :

1. सबसे पहले आप राशन कार्ड डीलर बनने से संबंधित आवेदन फॉर्म प्राप्त करें। यह आवेदन फॉर्म आपको अपने जिले के खाद्य विभाग से मिल जाएगा। 

2. इसके बाद इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारियां सही तरीके से भर लें। 

3. आवेदन फॉर्म को कंप्लीट रूप से भर लेने के बाद आवश्यक सभी दस्तावेजों को साथ में अटैच कर ले।

4. आवेदन फॉर्म को कंप्लीट रूप से तैयार कर लेने के बाद फॉर्म को आप अनुमंडल पदाधिकारी या खंड विकास अधिकारी के पास जाकर के जमा कर दीजिए।

5. फिर आपके आवेदन फॉर्म की जांच जिला स्तरीय चयन समिति के द्वारा की जाएगी। अगर जांच में आपका आवेदन फॉर्म अप्रूव हो जाता है तो फिर आपको राशन डीलर बनने से संबंधित लाइसेंस उपलब्ध करवा दिया जाता है। 


राशन डीलर की सैलरी कितनी होती है ? 

आपको बता दें कि राशन डीलर की कोई सैलरी नहीं होती है यानि राशन डीलर को किसी भी प्रकार की सैलरी नहीं दी जाती है बल्कि उसको एक फिक्स कमीशन मिलता है। अब यह सवाल आता है कि राशन कार्ड डीलर को कितना कमीशन मिलता होगा ? अगर बात की जाए राशन डीलर को कमीशन मिलने से संबंधित जानकारी की तो यह कमीशन राशन सामग्री के हिसाब से 75 पैसे प्रति किलो से लेके ₹2 रुपये प्रति किलो तक मिलता हैं। यह कमीशन भी भारत के अलग-अलग राज्यों में भिन्न-भिन्न हो सकता है। इसके अलावा डीलर को बचे हुए राशन देने पर भी कुछ आय मिल जाती हैं। इस प्रकार से राशन डीलर की कमाई होती है। 

तो दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको राशन डीलर कैसे बने ? राशन डीलर बनने के लिए योग्यता क्या है ? राशन डीलर की सैलरी कितनी होती है ? राशन डीलर बनने के लिए दस्तावेज क्या है ? अतः हम उम्मीद करते हैं कि आपको राशन कार्ड डीलर बनने से संबंधित संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी। अगर आपको यह जानकारी पसंद आती है तब आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर कीजिएगा।  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ