Headlines
Loading...
राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना क्या है ? इसका फॉर्म कैसे भरे ?

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना क्या है ? इसका फॉर्म कैसे भरे ?

What is Rajasthan Mukhymantri Corona Bal Kalyan Yojana Full Information in Hindi : - भारत में कोरोना के आने से काफी नुकसान हुआ है। साथ ही में कोरोना के कारण कई परिवारों में माता पिता की मृत्यु होने पर काफी बच्चें अनाथ भी हो चुके हैं। जिसके कारण अनाथ हुए बच्चो का पालन पोषण, शिक्षा व्यवस्था और रहने की स्थिति ही खराब हो चुकी है। इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार ने मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना की शुरुआत की गई। जिसके तहत अनाथ हुए बच्चों का पालन पोषण करने के लिए सहायता राशि 5 लाख रुपए और शिक्षा देने के लिए मुफ्त में एजुकेशन और छात्रावास की सुविधा दी जा रही हैं।

तो आज के इस ब्लॉग में हम आपको राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं। राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना क्या है ? और इसका फॉर्म कैसे भरें ? यह नहीं पता तब आप इस ब्लॉग को शुरू से लेकर के अंत तक जरूर पढ़िएगा। 

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना क्या है ? What is Rajasthan Mukhymantri Corona Bal Kalyan Yojana


राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना क्या है ? What is Rajasthan Mukhymantri Corona Bal Kalyan Yojana 

कोरोना महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों के माता पिता की मृत्यु होने पर सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही हैं। इसके लिए राजस्थान सरकार ने " मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना " की शुरुआत की गई है। जिसका मुख्य उद्देश्य कोरोना महामारी की वजह से माता-पिता की मृत्यु होने पर अनाथ हुए बच्चों को पालन पोषण, शिक्षा व्यवस्था और उनको रोजगार देने के उद्देश्य से इस योजना को शुरू किया गया है।


राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना के तहत मिलने वाले लाभ क्या क्या है ? 

1. कोरोना महामारी के दौरान अनाथ हुए बालक और बालिकाओं को तुरंत ही ₹100000 की धनराशि दी जाएगी। 

2. बालक और बालिकाओं की उम्र 18 वर्ष होने तक प्रत्येक महीने ₹2500 की सहायता राशि दी जाएगी।

3. अनाथ हुए बच्चों की उम्र 18 साल पूरी होने के बाद सरकार की तरफ से इस योजना के तहत ₹500000 की धनराशि दी जाएगी। यह धनराशि उनके आगे की शिक्षा व्यवस्था और रोजगार देने के उद्देश्य से दी जाएगी।

4. अनाथ हुए बच्चों को 12वीं तक निशुल्क शिक्षा और स्कूल छात्रावास में रहने की सुविधा दी जाएगी।

5. कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं को सामाजिक न्याय और आधिकारिकता विभाग द्वारा संचालित छात्रावासों में प्राथमिकता से एडमिशन दिया जाएगा।

6. कॉलेज में पढ़ रहे स्टूडेंट्स के लिए आवासीय सुविधाएं हेतु अंबेडकर डीबीटी वाउचर योजना का लाभ दिया जाएगा।

7. कॉलेज की पढ़ाई कंप्लीट करने के बाद युवाओं को राजस्थान मुख्यमंत्री युवा संबल योजना के तहत बेरोजगार भत्ता दिया जाएगा।

अगर आप राजस्थान मुख्यमंत्री युवा संबल योजना के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते हैं तो आप इस ब्लॉग को जरूर पढ़ें


मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना के तहत विधवा हुई महिलाओं के लिए क्या लाभ हैं ? 

कोरोना महामारी के कारण पति की मृत्यु होने पर विधवा महिला को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

1. कोरोना की वजह से विधवा हुई महिला को ₹100000 की एक किस्त के रूप में धनराशि दी जाएगी।

2. विधवा महिला को 1500 रुपए की पेंशन प्रत्येक महीने दी जाएगी। 


मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना का लाभ लेने के लिए योग्यता क्या है ? 

वैसे देखा जाए तो इस योजना का लाभ कोरोना के कारण माता पिता की मृत्यु होने पर अनाथ हुए बच्चों या इसके अलावा कोरोना की वजह से पति की मृत्यु हो गई हो और आप विधवा हो तब आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।


मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना का फॉर्म कैसे भरें ? 

मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना का फॉर्म अप्लाई करने के लिए आप अपने नजदीकी ईमित्र सेंटर या सीएस सेंटर से कांटेक्ट करने के बाद आप वहां पर फॉर्म अप्लाई कर सकते हैं। जिसके तुरंत बाद आपको इस योजना के तहत लाभ मिल जाएगा। 

ये भी पढ़े...

दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको यह जानकारी राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना क्या है ? इसका फॉर्म कैसे भरे ? जरूर पसंद आई होगी। अगर पसंद आए तब आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर कीजिएगा। 

0 Comments: